भूल-बिसरे गीत (गुजरे जमाने के फ़िल्मी गीत)

भूले-बिसरे गीत

गुजरे जमाने के फ़िल्मी गीतों का आनंद लेने के लिए सुनिए कार्यक्रम भूले-बिसरे गीत । इस कार्यक्रम का प्रसारण विविध भारती रडियो पर 22 सितम्बर 2016 , दिन बृहस्पतिवार को हुआ था । इस कार्यक्रम में प्रसारित गीतों का वर्णन : गीत                          फिल्म               […]

» Read more

जयमाला : गीतकार ‘भरत व्यास’ की प्रस्तुति ।

फौजी साथियों की सेवा में प्रस्तुत किया गया विशेष जयमाला कार्यक्रम, जिसके प्रस्तुतकर्ता हैं, प्रसिद्ध गीतकार भरत व्यास।भरत व्यास जी में बचपन से ही कवि प्रतिभा दिखने लगी थी। उनका लिखा पहला गीत था- आओ वीरो हिलमिल गाए वंदे मातरम। उन्होंने 17-18 वर्ष की उम्र तक लेखन शुरू कर दिया था।भरत व्यास जी ने कुछ फ़िल्मों में भी भूमिका निभाई थी […]

» Read more

छाया गीत: प्रस्तुति ‘अमर कान्त दुबे’ की

AmarKant Dubey

आज १२ सितम्बर का छाया गीत प्रस्तुत किया गया विविध भारती सेवा के मशहूर उद्घोषक अमर कान्त दुबे द्वारा । तो आइये आनन्द लेते हैं इनकी पसन्द के कुछ गीत छायागीत कार्यक्रम से। इस कार्यक्रम मे निम्न लिखित गीतों का समावेश है: १. कहे झूम झूम रात ये सुहानी २. रात का शमां झूमे चन्द्रमा ३. रात ढलने लगी, बुझ […]

» Read more

गणेश चतुर्थी पर्व

गणेश चतुर्थी

गणेश चतुर्थी उत्सव पूरे भारत में बेहद भक्तिभाव और खुशी से मनाया जाता है। ये भगवान गणेश के जन्म दिवस के रुप में मनाया जाता है, जो बुद्धि और समृद्धि के भगवान है। गणेश चतुर्थी देश के विभिन्न राज्यों में मनाया जाता है, लेकिन महाराष्ट्र में, ये खासतौर से मनाया जाता है। इस उत्सव में लोग गणेश की मूर्ति को […]

» Read more

शिक्षक दिवस (5 सितंबर)

टीचर्स डे

भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन (5 सितंबर) को भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। गुरु, शिक्षक, आचार्य, अध्यापक या टीचर ये सभी शब्द एक ऐसे व्यक्ति को व्याख्यातित करते हैं, जो सभी को ज्ञान देता है, सिखाता है और ऐसे शिक्षकों को सदा ही मान-सम्मान,आदर तथा धन्यवाद देना चाहिए लेकिन इसके अतिरिक्त […]

» Read more
1 2 3 15