सावन की अगन (श्रृंगार रस के वियोग भाव के गीत)

सावन की श्रृंखलाबद्ध कड़ियों के सन्दर्भ में प्रथम कड़ी झूमता सावन में श्रृंगार रस के संयोग भावों का वर्णन किया गया है। इसी तर्ज पर इस कड़ी में श्रृंगार रस के वियोग रूप की व्याख्या है। वियोग भाव अर्थात् प्रेमी-युगल के बिछड़ने की अवस्था दो प्रेमी ह्रदयों को विरह की इस बेला में सावन की बूंदें भी ठंडक का एहसास […]

» Read more

देश मेरा रंगीला (70वां स्वतंत्रता दिवस)

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा,झंडा ऊचाँ रहे हमारा…….. यहाँ हर कदम-कदम पर धरती बदले रंग , यहाँ की बोली में है रंगोली के सात रंग, ऐसा देश है मेरा, देश मेरा रंगीला……..जहाँ के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के तीन रंगों की क्षैतिज पट्टियां और नीले रंग का चक्र देश के सुख, शांति और समृधि का प्रतीक है। सम्पूर्ण देश आज स्वतंत्रता दिवस के […]

» Read more

याद करो कुर्बानी (स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या)

सन् 1947 में सैकड़ों वर्षों से गुलामी की जंजीरों में जकड़ा हुआ हमारा भारत देश आजाद हुआ था। यह आजादी उन लाखों लोगों के त्याग और बलिदान स्वरूप हमें मिला है, जिन्होंने देश के लिए अपना तन-मन-धन सब हँसते- हँसते न्यौछावर कर दिया। देश के उन महान सपूतों की आहुति की बदौलत ही आज हम स्वतन्त्र भारत में साँस ले […]

» Read more

सावन (श्रावण) शुक्ल पंचमी (नागपंचमी पर्व की धुन)

सावन के महीने में (श्रावण) शुक्ल पंचमी के दिन नागपंचमी का त्यौहार सम्पूर्ण भारतवर्ष में  परंपरागत रूप से श्रद्धा एवं विश्वास के साथ मनाया जाता है। इस दिन नाग दर्शन  और नागों की पूजा का विशेष महत्व होता है। हिंदी सिनेमा जगत में भी नागपंचमी पर्व के पूजन , समारोह और उनसे सम्बंधित गीतों का वर्णन किया गया है। इसी […]

» Read more

जन्मदिन-द वॉयस मैजिशियन किशोर दा

अभिनेता, गायक, लेखक, कंपोजर, पटकथा लेखक, निर्माता और निर्देशक, इन सभी खूबियों वाले हरफनमौला शख्स किशोर कुमार का आज 4 अगस्त को जन्मदिन है । हिंदी सिनेमा जगत में किशोर दा ने एक अभिनेता के रूप में कदम रखा था और शुरुआत फ़िल्म शिकारी (1946) से हुई। इस फ़िल्म में उनके बड़े भाई अशोक कुमार ने प्रमुख भूमिका निभाई थी। […]

» Read more
1 53 54 55 56 57 59