अंदाज-ए -कव्वाली

क़व्वाली संगीत की एक विधा है । हिंदी सिनेमा जगत में 1944 में पहली बार फिल्म ‘नाईट बर्ड’ के गाने ( हसीनों के लिए) में कव्वाली का अंदाज दिखा था ।धीरे-धीरे हिंदी फिल्मों में कव्वाली ने अपनी पैठ बना ली ,लेकिन समय के साथ जैसे – जैसे हिंदी फिल्मों में बदलाव हुआ , पारंपरिक क़व्वाली का स्वरुप भी बदलने लगा […]

» Read more

यादों के झरोखे से -मदन मोहन कोहली

सन् 1950 से 1970 तक के तीन दशको में संगीत की धूम मचाने वाले हिंदी सिनेमा के प्रख्यात  संगीतकार मदन मोहन कोहली का आज की ही तारीख़ 25 जून को जन्म हुआ था । अपने युवावस्था में यह एक सैनिक थे लेकिन फौजी वर्दी और जंग का मैदान इस संगीत प्रेमी को रास  न आया और इन्होनें वापस आकर लखनऊ का […]

» Read more

सुर-संगीत-वर्ल्ड म्यूजिक डे

संगीत में गायन,वादन और नृत्य का समावेश होता है ।इस दुनिया में शायद ही कोई इन्सान हो जिसे संगीत पसंद ना हो ।लेकिन हाँ सबको एक जैसा ही संगीत पसंद हो , यह भी जरुरी नहीं । सबके पसंदीदा संगीत का अपना-अपना मिजाज होता है । किसी को गजल पसंद होता है ,तो किसी को हलके-फुल्के प्यार भरे गीत ,कोई […]

» Read more

गाने नये-पुराने – हिंदी सिनेमा के संगीतकार जोड़ी के गीत

संगीत कला और साधना का संगम है । हिन्दी सिनेमा को अनेक संगीतकारों ने अपने संगीत की धुनों से सराबोर किया ।जिनमें से कुछ प्रसिद्ध संगीतकारों ने तो संगीत की दुनिया में इस कदर नाम रोशन किया कि उनके न रहने पर भी हिंदी सिने प्रेमियों के दिलों में उनके गीत आज भी जीवित हैं । हिंदी सिनेमा के संगीत जगत में अपनी […]

» Read more

गाने नये-पुराने – मस्ती भरे गीत

जून का महीना मतलब गर्मी की छुट्टियाँ जिसमें बच्चे अपने नाना-नानी और दादा-दादी के पास जाते हैं , कुछ लोग हिल स्टेशन पर घुमने जाते हैं या परिवार के सदस्य और दोस्त-मित्र सभी एक साथ पिकनिक मनाते हैं , कहने का अर्थ यह है कि सभी मस्ती के मूड में होते हैं पर बहुत से लोग अपने काम की वजह […]

» Read more
1 62 63 64 65