गाने नये-पुराने – हिंदी सिनेमा के संगीतकार जोड़ी के गीत

फिल्म इंडस्ट्री की पहली संगीतकार जोड़ी हुस्नलाल-भगतराम
हिन्दी सिनेमा की पहली संगीतकार जोड़ी – हुस्नलाल-भगतराम

संगीत कला और साधना का संगम है । हिन्दी सिनेमा को अनेक संगीतकारों ने अपने संगीत की धुनों से सराबोर किया ।जिनमें से कुछ प्रसिद्ध संगीतकारों ने तो संगीत की दुनिया में इस कदर नाम रोशन किया कि उनके न रहने पर भी हिंदी सिने प्रेमियों के दिलों में उनके गीत आज भी जीवित हैं ।

हिंदी सिनेमा के संगीत जगत में अपनी धुनों के जादू से श्रोताओं को मदहोश करने वाले  कुछ संगीतकार जोड़ीयां भी लोकप्रिय रही हैं । फिल्म इंडस्ट्री की पहली संगीतकार जोड़ी हुस्नलाल-भगतराम थे । इसके बाद आये सुप्रसिध संगीतकार जोड़ी शंकर-जयकिशन जो हुस्नलाल-भगतराम के ही शिष्य थे  ।ये आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन इनके गीत संगीत प्रेमियों के बीच  आज भी ताजातरीन हैं। इनके बाद संगीतकारों की कई जोड़ियां आईं जिन्होंने हिंदी सिनेमा के संगीत को बुलंदियों पर पहुँचाया है । जब भी सफल संगीतकारों की चर्चा चलती है तो वहां लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की जोड़ी का नाम बड़े सम्मान से लिया जाता है। नदीम-श्रवण की जोड़ी को भी बॉलीवुड के काफ़ी सफल संगीतकार जोड़ी के तौर पर गिना जाता था.कल्याणजी आनंदजी और आनंद -मिलिंद की संगीतकार जोड़ी को भी खूब प्रसिद्धि मिली । नए जमाने के संगीतकार जोड़ियों में विशाल-शेखर और मीत ब्रदर्स (मनमीत और हरमीत सिंह) के गीतों को भी खूब पसंद किया जा रहा है ।आइये सुनते हैं , नये-पुराने गीतों की सौगात के रूप में इन्हीं संगीतकार जोड़ियों के संगीत से सराबोर गीत :

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *