झूमता सावन (श्रृंगार रस के संयोग भाव के गीत)

सावन के महीने में भक्ति और श्रृंगार रस का मिश्रित समावेश होता है। सावन में जहाँ एक ओर शिव भक्तगण भक्ति के रस से सराबोर रहते हैं, वहीं वर्षा ऋतु के  चरम उत्कर्ष वाला सावन का यह सुहाना मौसम श्रृंगार रस के प्रेम में भी डूबा रहता है। अनगिनत फूलों की खुशबू , रंग-बिरंगी उड़ती तितलियाँ, भौरों की गुंजन और मंद […]

» Read more