भक्तिमय सावन (शिव भजन)

कहते हैं कि सावन देवों के देव महादेव की भक्ति का महीना है। सावन के इस पावन महीने में शिव की उपासना और शिवलिंग पूजा के प्रति जनमानस में अगाध भक्ति और आस्था देखने को मिलती है। सावन महीने को धर्म शास्त्रों में श्रावण भी कहा गया है।

 सावन में शिवलिंग पूजाश्रावण का अर्थ है, श्रवण करना अर्थात् सुनना। इसलिए यह भी कहा जाता है कि इस महीने में सत्संग, प्रवचन, धर्मोपदेश व शिव भजन सुनने से विशेष फल मिलता है। यूँ तो सम्पूर्ण श्रावण माह शिव पूजा के लिए अत्यंत फलदायी माना जाता है, लेकिन इस माह में प्रत्येक सोमवार के दिन भगवान भोलेनाथ के पूजा की विशेष महत्ता होती है। इस दिन भजन-कीर्तन,व्रत-पूजा व जलाभिषेक द्वारा नर-नारी सभी श्रद्धापूर्वक भगवान शिव की अराधना करते हैं।

आज सावन महीने का प्रथम सोमवार है। इसी उपलक्ष्य में आइये सुनते हैं, सावन के गीतों के श्रृंखलाबद्ध कड़ियों के द्वितीय कड़ी-भक्तिमय सावन में अनूप जलोटा जी की आवाज में शिव भजन………देव नहीं महादेव शिवाय ……

सावन के गीत श्रृंखलाबद्ध कड़ियों में-तृतीय कड़ी -हरियाला सावन:

http://vividhbharti.org/all/hariyala-savan/

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *